एलएनआईपीई मे APS रिर्फेशर कोर्स का समापन

_MG_3767.jpg

ग्वालियर. लक्ष्मीबाई राष्ट्रीय शारीरिक शिक्षा संस्थान (एलएनआईपीई )में 16से 30 मार्च तक आयोजित श्रिर्फेशर कोर्स (आर्मी पब्लिक स्कूल के शारीरिक शिक्षा अध्यापकों हेतु) का आज समापन प्रो. दिलीप कूमार डुरैहा (कुलपति, एलएनआईपीई) के मुख्य आतिथ्य में हुआ। समारोह में प्रो विवेक पांडे (कुलसचिव, एलएनआईपीई) विशिष्ट अतिथि की रूप में उपस्थित हुए। समारोह में सर्वप्रथम कुलपति प्रो. डुरैहा, कुलसचिव प्रो. पांडे व प्रो. विल्फ्रेड वॉज का स्वागत किया गया। स्वागत समारोह के पश्चात् एपीएस प्रतिभागियों के प्रतिनिधि के तौर पर श्रीमती आभा व श्री नौटियाल ने संस्थान में कोर्स के अपने अनुभवों को सभी के मध्य साझा किया। अपने अनुभव में दोनों ही प्रतिभागियों ने संस्थान को रिर्फेशर कोर्स के आयोजन के लिए धन्यवाद कहा। श्रीमती आभा ने कहा कि स्कूलों में जाने के बाद हम सभी में एक ठहराव आ गया था इस रिर्फेशर कोर्स ने हमें फिर से सक्रिय कर दिया। श्री नौटियाल ने कहा कि इस कोर्स के द्वारा हमें शारीरिक शिक्षण क्षेत्र में हो रहे बदलावों व नवीनतम सि˜ान्तों को समझने में सहायता की। 

इसके पश्चात् कुलसचिव प्रो. विवेक पांडे ने सभा को संबोधित किया। अपने संबोधन में कुलसचिव प्रो. पांडे ने प्रतिभागियों से कहा कि मैने जब आपका क्लास लिया तो मैने आप लोगों में इस कोर्स के लिए उत्साह देखा। आर्मी स्कूल के लोगों मे वैसे यह होता हैं और हमें आपसे यह उम्मीद भी रहती हैं। आप सभी ने इस कोर्स को सफलतापूर्वक संपन्न किया इसके लिए मै आप सभी को धन्यवाद व बधाई देता हुं। कुलसचिव प्रो. पांडे के संबोधन के पश्चात्् कुलपति प्रो डुरैहा का संबोधन हुआ। अपने संबोधन में कुलपति प्रो. डुरैहा ने सर्वप्रथम प्रतिभागियों से कहा कि आपको जानकर अत्यंत ही खुशी होेगी की आपके शारीरिक शिक्षा क्षेत्र का यह संस्थान अब प्रमाणिक रूप से भी इस देश के सर्वोत्तम संस्थानों मे शामिल हो गया हैं क्योंकि नैेक ने एलएनआईपीई को ।़़ ग्रेड से नवाजा हैं। यह हम सभी के लिए हर्ष का विषय है। इस सफलता ने हमारी जिम्मेदारी को देश के समक्ष और भी ज्यादा सुनिश्चित किया है। खेल मंत्रालय ने हमें नेशनल मिशन व क्लास 1 से क्लास 12 तक के छात्रों के लिए शारीरिक शिक्षा के सिलेबस बनाने का जिम्मा भी दिया है। अब यह न सिर्फ इस संस्थान की बल्कि हम सभी खेल शिक्षकों का दायित्व है कि हम कड़ा परिश्रम करे और इस भ्रांति को बदले की खेल शिक्षक केवल एक पीटी टीचर हैं। कुलपति प्रो. डुरैहा ने प्रतिभागियों को बताया कि आज हम विश्व में सबसे युवा देश तो हैं ही परंतु हमारा युवा कमजोर है क्योंकि युवा आज मैदानों पर कम व कम्पयुटर पर ज्यादा दिखता हैं। युवा नशे की लत से घिरे है। इन सभी के लिए दो लोग प्रमुखतया जिम्मेदार हैं एक तो माता-पिता दूसरे हम क्योंकि खेल शिक्षक छात्रों के सबसे नजदीक होते है इसलिए यह हमारा दायित्व है कि हम अपने युवाओं का सही मार्गदर्शन करें जिससे कि वह स्वस्थ व शिक्षित होकर देश विकास में अपना पूर्ण सहयोग दे। कुलपति प्रो. डुरेहा ने कहा कि मुझे यह सुनकर काफी खुशी मिली कि आपको संस्थान में कोई तकलीफ नहीं हुई। मैं आप सभी को कोर्स को सफलतापूर्वक पूर्ण करने हेतू बधाई व धन्यवाद देता हुं। रिर्फेशर कोर्स में कुल 40 प्रतिभागियों ने प्रतिभागिता दर्ज कराई है। धन्यवाद प्रस्ताव भार्गव बोरा ने प्रेषित किया व कार्यक्रम का संचालन कोर्स समन्वयक डॉ. अनंदिता दास ने किया।

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और

 ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s