प्रेस्टीज प्रबंधन संस्थान में एक दिवसीय सेमीनार 8 अप्रैल को

IMG_6867.jpg

ग्वालियर राष्ट्रीय स्तर पर ही नहीं बल्कि अंतराष्ट्रीय स्तर पर वित्तीय वातावरण में काफी परिवर्तन देखने में आये है। जैसा कि विदित है बिना मजबूत वित्तीय ढांचें के आज के उद्योग जगत में उपभोक्ताओं की मांगों को पूरा कर पाना संभव नहीं है। किसी भी उद्योग एवं व्यवसाय के लिए फायनेंस विभाग वह विभाग है जो उपभोक्ताओं की मांगों के अनुसार उद्योग को उनकी पूर्ति करने हेतु बल प्रदान करता है। सेमिनार मेंशोधार्थी अपने शोध को प्रस्तुत कर उसे और बेहतर दिशा प्रदान कर सकेंगे एवंनिश्चित ही व्यावसायिक जगत एवं शिक्षा जगत के विकास में योगदान दे पायेंगे। यह बात पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए संस्थान के निदेषक डॉ एसएस भाकर ने 6 अप्रेल को आयोजित प्रेस वार्ता में कही। 
वहीं सेमिनार के कोर्डिनेटर डॉ विनोद भटनागर ने सेमिनार की पूरी जानकारी को पत्रकारो के साथ साझा करते हुए बताया कि सेमिनार ‘‘कंटेम्पररी इश्यूज इन फायनेंस, एकाउण्टिंग एण्ड इकोनोमिक्स’’ विशय पर आधारित रहेगा। सेमिनार 3 तकनीकी सत्रों में विभाजित किया गया है। जिसमें प्रारंभिक 2 सत्र शोध पत्र प्रस्तुतिकरण के लिए रहेगें। इन दोनों सत्रों को प्रारंभिक चरण की तरह आयोजित किया जायेगा जिनमें से चुने गये शोधार्थी प्रतिभागी तीसरे एवं निर्णायक तकनीकी सत्र में शोध पत्रों को प्रस्तुत कर प्रतिस्पर्धा करेंगे। अंतिम सत्र में सर्वश्रेष्ठ शोध पत्र को प्रस्तुत करने वाले प्रतिभागी को 5000 रूपये नगद पुरूस्कार दिया जायेगा। 
सेमिनार की को-कोर्डीनेटर प्रो. पूजा जैन ने कहा कि प्रेस्टीज प्रबंधन संस्थान अपने प्रत्येक कार्यक्रमों नये आयाम जोड़ने के लिए जाना जाता रहा है। इसी कड़ी में यह सेमिनार केवल शोधार्थिओं एवं स्टूडेन्ट्स के लिए ही आयोजित किया गया है। सेमिनार का उद्देष्य शिक्षा एवं उद्योगों के क्षेत्र में एक ऐसा मंच उपलब्ध कराना है जहां से शोधार्थी अपने शोध पत्र के माध्यम से वित्तीय जगत में होने वाले परिवर्तनों एवं  आर्थिक परिपेक्ष में हो रहे बदलावों को समाज के सामने ला सकें।
संस्थान के निदेशक डॉ एसएस भाकर ने कहा कि किसी भी सेमीनार की सफलता उसमे पढे जाने वाले शोधपत्रों से होती है उन्होने बताया कि इस एक दिवसीय सेमीनार में देश के विभिन्न क्षेत्रों से प्रतिभागी आ रहे है। जिनमें प्रमुखतः नरसिंहगढ़, हरिद्वार, भोपाल, सागर, इंदौर, जयपुर, जम्मू कष्मीर, कानपुर, सतना, आगरा, मुरैना, नई दिल्ली आदि षामिल है। 
Advertisements

One thought on “प्रेस्टीज प्रबंधन संस्थान में एक दिवसीय सेमीनार 8 अप्रैल को

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s