शौर्य को सैल्यूटः शरीर में हजारों जख्म तो किसी के शरीर में ग्रेनेड के 28 टुकडे फिर भी दुश्मन को भगाकर लिया दम

shaurya-1_1491748457

ग्वालियर. सैनिक के शरी में ग्रेनेड के दजनों टुकड़े जा घुसे, तो किसी ने सीने पर गोलियों को रोका, लेकिन जंग से मैदान नहीं छोड़ा, इनके हौसलों के आगे दुश्मन को पीठ दिखाकर भागना पड़ा, यह अवसर था ऐसे शौर्यवीर जवानों का सम्मान का,  ऐसे वीर सपूत सीआरपीएफ के जवानों का शौर्य दिवस पर सम्मानित किया गया तो सीने फ्रख से चौड़े हो गये। 

शौर्य दिवस पर बहादुरों को गैलेंट्री मेडल का

सीआरपीएफ का 52वां शौर्य दिवस रविवार को ग्वालियर के पनिहार कैंपस में सेलिब्रेट किया गया। इस मौके पर आतंकवादियों और नक्सलियों से मुकाबला करने वाले जवानों व अफसरों को गैलेंट्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। आंतरिक सुरक्षा पदक से ग्रुप सेंटर के 21 जवानों को सम्मानित किया गयाए जबकि 3 जवानों को गैलेंट्री अवार्ड दिया गया।  जबकि सेंट्रल ट्रेनिंग कॉलेज के 13 जवानों व अफसरों को आंतरिक सुरक्षा पदक दिया गया

इन्हें मिला आंतरिक सुरक्षा पदक

ग्रुप सेंटर के सब इंस्पेक्टर एमएम राजकुमार, हवलदार कुलविंदर सिंह और देवेंद्र पाल, कॉन्स्टेबल धर्मेंद्र सिंह, मनीष पाठक, पवन कुमार, मनभरण प्रसाद, सुरेंद्र कुमार सेन, कृष्ण मुरारी, जावेद अहमद, जगजीवन सैनी, विनोद कुमार, देवेंद्र सिंह, मनीष शर्मा, भूप सिंह शाक्य, संतोष सिंह, इम्तियाज अहमद, आरके चौरसिया बलवीर सिंह, नवनीत कुमार और चंद्रमणि शर्मा।  सेंट्रल ट्रेनिंग कॉलेज के इंस्पेक्टर जेएम दुकिया, हेड कांस्टेबल सुरेश कुमार, देश पाल और बृजेश कुमार राव, कांस्टेबल रविंद्र कुमार यादव, राम लखन तोमर, हर्ष कुमार, संतोष तिवारी, एसके त्रिपाठी, बलबीर सिंह, हुकुम सिंह, बिहारी कोल और राजपाल सिंह।

गैलेंट्री अवॉर्ड इन्हें मिला 

डिप्टी कमांडेंट पंचमलालए हवलदार रणवीर सिंह सोलंकी और कॉन्स्टेबल विवेक सिंह राठौर

शौर्य और इनके हौसलों को  सलाम

ग्वालियर के पनिहार में तैनात डिप्टी कमाण्डेंट पंचमलाल सिंह उन दिनों पश्चिम बंगाल में कोबरा बटालियन में पदस्थ थे, उनकी बटालियन ने कायमा मेटला के जंगलों में नक्सलियों को घेरने के लिये ऑपरेशन शुरू किया गया, देर रात शुरू हुए ऑपरेशन में मोस्ट वांटेड कुख्यात नक्सली कमाण्डर सिद्धू सोरेन सहित 5 नक्सली को मार गिराया। अदम्य साहस और वीरता के लिये राष्ट्रपति ने डिप्टी कमाण्डेंट पंचमलाल को गैलेंट्री अवार्ड से सम्मानित किया है।

20 अगस्त 2007 में जम्मू.कश्मीर में सोपिया के गलईपुरा गांव में आतंकी संगठन लश्कर.ए.तैयबा के आतंकवादियों के छुपे होने की खबर मिली। हवलदार रणवीर सिंह सोलंकी की टुकड़ी पर आतंकवादियों से सीधे अटैक कर दिया। हवलदार सोलंकी के शरीर में ग्रेनेड के 30 से भी ज्यादा टुकड़े जा धंसेए लेकिन वो आतंकियों पर गोलियां बरसाते रहे। नतीजतन लश्कर के कमांडर आतंकी अब्दुल राठौर और सिराज अहमद को मार गिराया। रणवीर सिंह के शरीर के अलग.अलग हिस्सों में ग्रेनेड के 28 टुकड़े आज भी मौजूद हैं। इस साहस के लिए उन्हें ष्गैलेंट्री अवॉर्डश् से नवाजा गया।

कॉन्स्टेबल विवेक सिंह राठौर की टुकड़ी पर नक्सलवादियों ने 5 अप्रैल 2004 को छत्तीसगढ़ के मानिकपुर के जंगलों में एंबुश लगाकर हमला किया। इस हमले में एक नक्सली की गोली से विवेक घायल हो गएए लेकिन मुकाबला नहीं छोड़ा। विवेक की स्डळ आतंकियों पर लगातार गोलियां बरसाती रही। आखिरकार नक्सलियों को मैदान छोड़कर भागना पड़ा। विवेक को उनके अदम्य साहस के लिए गैलेंट्री अवॉर्ड से सम्मानित किया गया। 

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और
ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

One thought on “शौर्य को सैल्यूटः शरीर में हजारों जख्म तो किसी के शरीर में ग्रेनेड के 28 टुकडे फिर भी दुश्मन को भगाकर लिया दम

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s