लेडी कॉन्स्टेबल की हत्या करके फरार था एएसआई, केदारनाथ हादसे में स्वयं को मरा बता दिया था

IMG_7271.jpg

ग्वालियर. पुलिस के एक एएसआई ने लगभग 17 वर्ष पूर्व लेडी कॉन्स्टेबल की हत्या कर दी और कोर्ट ने उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई, आरोपी 2013 में पेरोल पर घर आया, उसी बीच केदारनाथ हादसा हुआ तो स्वयं को लापता घोषित करके गायबहो गया, एक महीने पहले उसे उधार देने वाले एक व्यक्ति ने जिन्दा देखा तो पुलिस को खबर कर दी, उसे भी मारना चाहा, लेकिन वह तो बच गया और आरोपी अपने बेटों के साथ पकड़ा गया । 

यह है पूरा मामला

मुरार निवासी भगवान दास पुलिस में एएसआई था, 17 वर्ष पूर्व उसने नौकरी में रहते हुए अपने साथ काम करने वाली एक लेड़ी कॉन्स्टेबल रेखा भटनागर की हत्या कर दी थी। उसके बाद से ही नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया और कोर्ट ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई, इसके बाद भगवानदास जेल चला गया था। 

केदारनाथ हादसे में लापता होना बताया था  

2013 में भगवान दास पेरोल पर छूटकर घर आया। उसी दौरान उत्तराखंड में केदारनाथ हादसा हो गया। इस हादसे में हजारों लोग लापता हो गए।  इस हादसे से भगवानदास को गायब होने का आयडिया आया। भगवानदास भूमिगत हो गया। पुलिस खोजने आई तो उसके बेटे दशरथ ने बताया कि वह तो केदारनाथ हादसे में मारे गए।   इस मामले की जांच करने उत्तराखंड पुलिस भी ग्वालियर आई लेकिन उसे लापता का कोई सुराग नहीं मिला। इस बीच भगवानदास भूमिगत ही रहा।

एक महीने पहले दिखाई दिया भगवानदास,  मारने की कोशिश कीए लेकिन रामू बच गया

एक महीने पहले भगवान दास मुरार के पास सिरोल इलाके में एक रामू श्रीवास्तव को दिखाई दिया। रामू को भगवानदास से 70 हजार रुपए लेने थे।  जैसे ही रामू ने भगवान दास से उसने रुपए मांगे, वह उसके साथ मारपीट करके भाग गया। उसके बाद भगवानदास ने अपने बेटे दशरथ से कहा कि यदि रामू जिंदा रहा तो उसे जेल जाना पड़ेगा।

इसके बाद भगवानदास के बेटों, सोनू और दशरथ ने रामू को सरियों से पीटा और मरा समझकर छोड़ गए। रामू जिंदा बच गयाए और उसने पुलिस को पूरी जानकारी दे दी।  अब पुलिस आऱोपी भगवानदास को खोजने में लग गई और मंगलवार को उसके मुरार स्थित घर से पकड़ लाई। पुलिस ने उसके दोनों बेटों को भी गिरफ्तार कर लिया है।

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और
ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

One thought on “लेडी कॉन्स्टेबल की हत्या करके फरार था एएसआई, केदारनाथ हादसे में स्वयं को मरा बता दिया था

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s