UP विधानसभा में हैवी एक्सप्लोसिव पाउडर, एनआईए से जांच करायेंगे योगी, एमएलए से की अपील

up1_1500007368.jpg

लखनऊ. उप्र विधानसभा में पीईटीएन नाम का एक्सप्लोसिव मिला है इसके बाद सीएम योगी आदित्यनाथ ने सुरक्षा को लेकर एक हाईलेवल बैठक बुलाई है। गुरूवार को सेषन के बीच सिक्युरिटी मेम्बर्स को संदिग्ध व्हाइट पाउडर मिला था । जिसके बाद डॉग स्क्वॉड ने पूरी असेम्बली की जाच कर छानबीन की थी। पाउडर को फॉरेंसिक लैब भेजा गया है, जहां एक्सप्लोसिव होने की पुष्टि हुई । विधानसभा में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 500 ग्राम एक्सप्लोसिव से पूरी विधानासभा उड़ सकती थी।  

योगी आदित्यनाथ की अपील सदस्यों से   

सभी कर्मचारियों का पुलिस वेरिफिकेशन हो।

सिक्युरिटी के लिए नई गाइडलाइन जारी हो।

एनआईए जैसी संस्था इस मामले की जांच करे।

फोन अंदर लेकर ना आएंए लाएं तो साइलेंट करें।

बिना पास के विधानसभा में एंट्री बैन हो।

जिम्मेदार और जवाबदेह लोगों को सिक्युरिटी सौंपी जाए।

यूनीफॉर्म सिक्युरिटी सिस्टम होना चाहिए।

 मेंबर्स सिक्युरिटी चेक में सहयोग करें। 

सदन में बोले योगी आदित्यनाथ 

पूरे विधानसभा भवन को उड़ाने के लिए 500 ग्राम पीईटीएन पर्याप्त है। कौन लोग लेकर आए हैं, जनप्रतिनिधियों को विशेषाधिकार दिया गया है,  तो उसका ऐसा इस्तेमाल होगा। ये बुरी स्थिति है। हम अब तक बाहर की सुरक्षा के लिए चिंतित थे। इस दौरान गुरुवार को जो चीजें सामने आईंए वो गंभीर हैं। मेरा आग्रह है कि जो इस विधान भवन में लगे कर्मचारियों का वैरिफिकेशन जरूरी है।

क्या हम किसी व्यक्ति को ऐसी छूट दे सकते हैं कि 403 विधायकों की सुरक्षा से खिलवाड़ करे, पूरी विधानसभा, कर्मचारियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करे, जो इस प्रकार की शरारत पर उतर आया है कि सुरक्षा को चुनौती दे। ये तय होना चाहिए कि हम लोग किसी एक व्यक्ति के लिए या किसी को खुश करने के लिए या तुष्टि के लिए 503 जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों.कर्मचारियों की सुरक्षा से खिलवाड़ करने की छूट नहीं दे सकते।

हम सभी का सहयोग चाहते हैं। ये विस्फोटक सामान्य रूप से पता नहीं लग सकता। फिजिकली चेक करने पर ही पता चलेगा। डॉग स्क्वॉड पहुंचा तो वो भी उसकी पहचान नहीं कर पाया,  लैब में पहुंचने के बाद पता लगा कि ये खतरनाक पीईटीएन विस्फोटक है। ये खतरनाक आतंकी साजिश का हिस्सा है और इसके पीछे कौन लोग हैं,  इसका पता करना होगा। हम चाहते हैं कि विधानसभा के सभी कर्मचारियों को पुलिस वैरिफिकेशन हो और एनआईए जैसी संस्था इस मामले की जांच करे

डीजीपी मॉनीटरिंग कर रहे हैं  

विधानसभा एसपी राहुल मिठास ने बताया, 60 ग्राम का सफेद पाउडर मिला था। इसे जांच के लिए फोरेंसिक लैब भेजा गया। वहां से इसके पीईटीएन विस्फोटक होने की पुष्टि हुई है। पाउडर अंदर कैसे आया,  इसकी जांच की जा रही है।  एडीजी इंटेलिजेंस भावेश कुमार ने कहा कि पूरे मामले की मॉनिटरिंग डीजीपी खुद कर रहे हैं।

पीईटीएन के बारे में में जानिए

PETN क्या होता है

पेंटाएरीथ्रीटोल ट्राइनाइट्रेट यानी पीईटीएन बेहद पावरफुल प्लास्टिक एक्सप्लोसिव है। ये व्हाइट पाउडर चरमपंथियों,  आतंकियों के बीच पॉप्युलर है,  क्योंकि ये ब्लैक मार्केट में आसानी से मिलता है और चेक प्वाइंट्स पर इसकी जांच बेहद मुश्किल है।

भारत में इस्तेमाल कब

7 सितंबर 2011 को दिल्ली हाईकोर्ट में हुए ब्लास्ट में पीईटीएन का उपयोग किया गया था। इस ब्लास्ट में 17 लोग मारे गये थे और 76 लोग घायल हुए थे। इन्वेस्टिगेशन में सामने आया कि ब्लास्ट में पीईटीएन की काफी कम मात्रा इस्तेमाल की गई थ,  लेकिन उसने काफी बड़ा नुकसान किया।

आखिर जांच क्यों मुश्किल हैं 

दिल्ली हाईकोर्ट ब्लास्ट के बाद तब इंटरनल सिक्युरिटी सेक्रेटरी रहे यूके बंसल ने बताया कि मौके से पीईटीएन होने के सबूत मिले ।  बंसल ने बताया कि लो मॉलीक्यूल्स होने के चलते ये मेटल डिटेक्टर में पकड़ में नहीं आता और स्निफर डॉग भी कई बार इसे नहीं पकड़ पाते हैं।

क्यों खतरनाक है

एक्सपटर््स के मुताबिक सिक्युरिटी इक्विपमेंट्स की पकड़ में ना आने की वजह से पीईटीएन आतंकवादियों की पसंद है। इसकी केवल 100 ग्राम मात्रा ही एक कार को ब्लास्ट करने के लिए काफी है।

कहां कहां उपयोग हुआ 

2001: शू बॉम्बर के नाम से मशहूर टेररिस्ट रिचर्ड रीड ने मियामी से जाने वाले अमेरिकन एयरलाइंस जेट पर इसका इस्तेमाल किया था। 

2009: अलकायदा मेंबर उमर फारुख अब्दुलमुतल्लब ने नॉर्थवेस्ट जाने वाली एक फ्लाइट में पीईटीएन के उपयोग की कोशिश की,  लेकिन नाकामयाब रहा। वो अपने अंडरवियर में एक्सप्लोसिव छिपाकर ले गया था और पकड़ा गया। 

2010: इस साल अक्टूबर महीने में यमन से अमेरिका जाने वाले एक कार्गो प्लेन में उपयोग मिला था।

2011: दिल्ली हाईकोर्ट में ब्लास्ट किया गया।

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और
ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

One thought on “UP विधानसभा में हैवी एक्सप्लोसिव पाउडर, एनआईए से जांच करायेंगे योगी, एमएलए से की अपील

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s