कश्मीर में माहोल् बिगाड़ने में बाहरी शक्तियों का हाथ, इसमें चीन भी शामिल-महबूबा

s20170715111209.jpg

नई दिल्ली.  जम्मू कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने शनिवार को दिल्ली में गृहमंत्री राजनाथ सिंह से उनके आवास पर मुलाकात की। इस बीच दोनों राज्यों की कानून व्यवस्था और अमरनाथ यात्रियों की सुरक्षा के मामले में चर्चा की । बैठक के बाद महबूबा ने कहा ‘‘कश्मीर के हालात बिगाड़ने में बाहरी ताकतों का हाथ है, अब तो चीन ने भी इसमें हाथ डालना शुरू कर दिया है। आपको बता दें कि 10 जुलाई की रात अनंतनाग में आतंकियों ने अमरनाथ यात्रियों कीबस पर हमला किया था, इसमें 5 महिलाओं सहित 7 यात्रियों की मौत हो गयी थी। 

पॉलिटिकज पार्टीज अगर साथ नहीं देती, तो यह जंग नहीं जीती जा सकती  

न्यूज एजेंसी एएनआई के अनुसार गृहमंत्री राजनाथ सिंह और महबूबा मुफ्ती के बीच करीब आधे घंटे बातचीत हुई। बाद में महबूबा ने कहा, मुझे खुशी है कि पॉलिटिकल पार्टीज एकजुट हो गई हैं। कश्मीर की समस्या का खुलकर साथ मुकाबला कर रहे हैं। सीएम ने कहा, ये जो लड़ाई हो रही हैए जिसमें बाहर की ताकतें शामिल हैं। अब तो बीच में चीन ने भी इसमें हाथ डालना शुरू कर दिया है। कश्मीर में हम कानून व्यवस्था की लड़ाई नहीं लड़ रहे। जब तक पूरा मुल्क,  पॉलिटिकल पार्टीज साथ नहीं देतीं,  तब तक ये जंग नहीं जीती जा सकती। एक प्रश्न के जवाब में जम्मू कश्मीर में धारा 370 का पुरजोर बचाव करते हुए महबूबा ने कहा, जब जीएसटी (गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स) हमने पास किया तब राष्ट्रपति ने जोर दिया था कि धारा 370 का खास ख्याल रखा जाएगा। धारा 370 हमारे जज्बात के साथ जुड़ी है।

अमरनाथ यात्रियों पर आतंकी हमले की जांच बनी एसआईटी

इस दौरान,  जम्मू.कश्मीर पुलिस ने अमरनाथ यात्रियों पर हमले की घटना की जांच के लिए 6 मेंबर्स वाली स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम एसआईटी बनाई है।  आईजीपी (कश्मीर रेंज) मुनीर अहमद खान ने बताया कि एसआईटी हमले की घटना से जुड़े सभी पहलुओं की जांच करेगी। इस मामले में पुलिस ने पीडीपी एमएलए एजाज अहमद मीर के ड्राइवर तौसीफ अहमद को पूछताछ के लिए अरेस्ट किया है। हमले में कथित तौर पर शामिल होने के आरोप में 2 अन्य को भी हिरासत में लिया गया है।  बता दें कि अमरनाथ यात्रियों की बस पर 10 जुलाई की रात को हुए हमले में 7 यात्रियों की मौत हो गई थी। 21 तीर्थयात्री जख्मी भी हुए थे। हमले के शिकार यात्री गुजरात,  दमन और महाराष्ट्र के थे। सभी यात्रा पूरी कर जम्मू लौट रहे थे। फिलहाल,  21 हजार पैरामिलिट्री पर्सनल,  स्टेट पुलिस के जवान और आर्मी की 2 बटालियन श्रद्धालुओं की सुरक्षा के लिए तैनात किए गए हैं।

एसआईटी इन बिंदुओं पर जांच करेगी

आतंकवादी राजमार्ग पर कैसे पहुंचे

हथियारों के साथ आतंकवादियों को गाड़ी अवलेबल कराने वाले लोग कौन थे

आतंकियों को भागने में किसने मदद दी

श्रद्धालुओं की सुरक्षा में कहां चूक हुई

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और
ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

One thought on “कश्मीर में माहोल् बिगाड़ने में बाहरी शक्तियों का हाथ, इसमें चीन भी शामिल-महबूबा

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s