कलेक्टर ने सुबह मेधा के सामने अनशन तोड़ने के लिये हाथ जोड़े, शाम को लाठीचार्ज, पुलिस ने मेधा को हॉस्पिटल पहुंचाया

63_1502103482.jpg

इन्दौर/बड़वानी. सरदार सरोवर बांध की डूब का चिखल्दा गांव, नर्मदा घाटी में यहां पुर्नवास को लेकर उपवास का 12वा दिन, मेधा पाटकर की तबीयत रविवार की रात से दिन में कई बार बिगड़ी। धार कलेक्टर श्रीमन शुक्ला दो बार मनाने आये। तीसरी बार उन्होंने मोबाइल से बातकी। कहा, अनशन तोडें और सरकार से बात करें। लेकिन मेधा नहीं मानी, बोली-बात करने के लिये उपवास तोड़ने की क्या जरूरत । पहले पुनर्वास फिर कोई बात। दोपहर तक घाटी में लड़ेंगे-जीतेंगे के नारों में जोश चरम पर आ गया। जिला प्रशासन ने भांप लिया मेधा नहीं मानेंगी। निसरपुर बड़वानी में अलग-अलग रणनीति बनाई । गांव तक पहुंचने के सारे रास्ते बन्द किये हैं। शाम को पुलिस आन्दोलनकारियों पर टूट पड़ी। 

मेधा पाटकर को अनशन स्थल से उठाकर हॉस्पिटल में  पुलिस ने भर्ती कराया 

आंदोलनकारी महिला हो या पुरुष। बच्चे व बुजुर्ग। किसी को नहीं बख्शा। किसी को जमीन से हटाया तो किसी को मंच से हाथ पकड़कर उठाया। किसी का गला तक दबाया। महिलाएं गुस्साई। चीखीं भी। मेधा के आसपास सुरक्षा घेरा बनाकर बचाया। पर पुलिस की भीड़ के आगे बेबस। बदसलूकी देख मेधा रो पड़ीं। कमजोर घेरा देख उसे महिला पुलिस ने स्ट्रेचर पर उठाकर कंधों पर ले लिया। ग्रामीण व कार्यकर्ता एक बार फिर गुस्साए। पुलिस के वाहनों के आगे आ गए। खदेड़ दिए गए। मेधा को इंदौर के बांबे हास्पिटल व बाकी अनशनकारियों को धार अस्पताल भेज दिया। 30 से ज्यादा कार्यकर्ता गिरफ्तार किए। चिखल्दा में ग्रामीणों ने अनशन शुरू कर दिया। बल तैनात है।

सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई

नर्मदा घाटी के डूब प्रभावितों को मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में होने वाली सुनवाई का इंतजार है, पुर्नवास को लेकर उन्हें तारीख आगे बढ़ने की उम्मीद है। इससे पूर्व 31 दिसम्बर को चीफ जस्टिस जेएस खेहर ने तारीख आगे बढ़ा दी थी।  

गांधी के सपनों की हत्या है-मेधा पाटकर

मेधा पाटकर का इन्दौर ले जाने से ठीक पहले मेधा ने कहा है कि मप्र सरकार 12 दिन के अनशन पर बैठे हुए 12 साथियों को गिरफ्तार करके जवाब दे रही है, अहिंसक आन्दोलन का यह कोई जवाब नहीं है, मोदी -शिवराज सरकार के राज में आंकड़ों का खेल, कानून का उल्लंघन और केवल बल प्रयोग किया जा रहा है। यह गांधी के सपनों की हत्या है, पहले अनशन तोड़ों, फिर बात करो। यह हम कैसे मंजूर कर सकते हैं..? इस मुद्दे पर 12 अगस्त को पीएम मोदी ने साधुओं और 12 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ जश्न मनाया तो यह तय हो जायेगा कि सरकार विकास को कैसे आगे धकेलना चाह रही है। 

जनता सरकार को जवाब देगी:सिंह

नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने ट्वीट कर कहा कि मैं सरदार सरोवर बांध के विस्थापितों पर हुए लाठीचार्ज की निंदा करता हूं। आन्दोलन कर रहे विस्थापितों पर शिवराज सरकार के दमन का जवाब प्रदेश की जनता देगी। मैं मेधा पाटकर के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

संवेदनशील हूं, पुनर्वास के लिए 900 करोड़ का अतिरिक्त पैकेज दिया- शिवराज 

चिखल्दा में हुए घटनाक्रम के बाद सोमवार देर रात मुख्यमंत्री शिवराज ने कई ट्वीट किए। लिखा. मैं संवेदनशील व्यक्ति हूं। डॉक्टरों की सलाह पर मेधाजी व उनके साथियों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। गिरफ्तार नहीं किया गया। उनकी स्थिति हाई कीटोन और शुगर के कारण चिंतनीय थी।  सरकार ने विस्थापितों के लिए 900 करोड़ का अतिरिक्त पैकेज दिया है। मेधाजी को पूरी जानकारी देकर संतुष्ट करने की कोशिश की थी।

www.newsmailtoday.com से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिये हमें फेसबुक और
ट्विटर पर फॉलो करें

Advertisements

One thought on “कलेक्टर ने सुबह मेधा के सामने अनशन तोड़ने के लिये हाथ जोड़े, शाम को लाठीचार्ज, पुलिस ने मेधा को हॉस्पिटल पहुंचाया

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s